अकाली दल बादल अपने गुनाहो से बचने के लिए आज भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे: परमजीत सिंह सरना

अकाली दल बादल अपने गुनाहो से बचने के लिए आज भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे: परमजीत सिंह सरना

अकाली दल बादल अपने गुनाहो से बचने के लिए आज भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे: परमजीत सिंह सरना

कहा-- बादल परिवार अपने सभी सरकारी गैर सरकारी संस्थानों से त्याग पत्र दे तांकि केस की निष्पक्ष जांच की जा सके

नई दिल्ली 28 जून (मनप्रीत सिंह खालसा):- शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली) प्रधान परमजीत सिंह सरना ने आज प्रेस विज्ञाति द्वारा पत्रकारों को बताया अकाली दल बादल अपने गुनाहो से बचने के लिए आज भी अपनी घिनौनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे  सरना का आरोप है पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर बरगाड़ी मामले का केस चल रहा है जिसकी सुनवाई  का मुख जज हरविंदर सिंह सिंधिया कर रहे है मगर सरना का आरोप है मुख जज हरविंदर सिंह सिंधिया का बादल परिवार के साथ पारिवारिक संबंध है जिसके चलते बरगाड़ी मामले के केस को भटकाने का काम किया जा रहा है सरना ने इस मामले में आई जी पी और (सीट) सदस्य कुंवर प्रताप सिंह को पत्र लिखकर  मुख जज हरविंदर सिंह सिंधिया को बदलने की मांग की है  सरना का कहना है हम मांग करते है बादल परिवार अपने सभी सरकारी गैर सरकारी संस्थानों से त्याग पत्र दे तांकि केस की निष्पक्ष जांच की जा सके शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली) प्रधान परमजीत सिंह सरना ने बताया जिस तरह बरगाड़ी में श्री गुरु ग्रन्थ साहिब जी की हुई बेअदबी के विरोध में शान्ति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे निहत्थे सिख यूवको पर गोली चलाई गई जो एक बादल परिवार की सोची समझी चाल थी सरना का आरोप है इस पूरी घटना में दिल्ली गुरूदुआरा प्रबंधक कमेटी के मौजूदा प्रधान मनजिंदर सिरसा और एक फ़िल्मी कलाकार भी शामिल थे सरना का आरोप है आज अगर सिरसा दिल्ली गुरूदुआरा प्रबंधक कमेटी का प्रधान है जो उसे सिर्फ बादल परिवार की वफादारी और बादल परिवार के जघन्य अपराधों में साथ देने का इनाम दिया है ।
उन्होनें कहा की दिल्ली की संगतो का दुर्भागय है की दिल्ली कमेटी के प्रधान को सिखी का अर्थ नहीं पता ना पाठ आता है ना गुरबाणी ऐसे सिख को प्रधान बनाकर बादल परिवार ने दिल्ली के सिखो का अपमान करने का काम किया है जिसे समूह सिख जगत कभी माफ़ नहीं करेगा ।
शिरोमणि अकाली दल (दिल्ली) ने देश विदेश में बैठे गुरु की संगत से आह्वान किया है वो बादल परिवार और उनके चहेतो का बहिष्कार करे ।  उन्होनें कहा की बादल परिवार ने सिख गुरु धामों को अपनी गन्दी राजनीति के इस्तेमाल करते हुए गुरु मर्यादाओ को ठेस पहुंचाने का काम किया है । आज दिल्ली गुरूदुआरा प्रबंधक कमेटी के कर्मचारी हो या शिरोमणि गुरूदुआरा प्रबंधक कमेटी का स्टाफ हो उन्हें वक़्त पर तनख्वाह नहीं मिल रही वही अपनी गन्दी राजनीति का फ़ायदा उठाने के लिए यह करोडो रूपए निजी टीवी चेनलो टिवीटर  पर अपनी उपब्धियो के झूठे प्रचार पर ख़र्च कर रहे है,  वही दूसरी तरफ बड़ी संख्या में जरूरत मंद सिख परिवार दाने दाने के लिए तरस रहे है अंत मे सरना ने कहा की चाहे बादल परिवार हो या दिल्ली गुरूदुआरा प्रबंधक कमेटी हो दोनों ही गुरुधामों को लूट लूट कर अपने खजाने भर रहे है ।