इटखोरी मे सुहगिन महिलाएं ने पति की लम्बी उम्र के लिए किया वट-सावित्री की पूजा

इटखोरी मे सुहगिन महिलाएं ने पति की लम्बी उम्र के लिए किया वट-सावित्री की पूजा

इटखोरी। पति के दीर्घायु और सलामती की कामना करते हुए महिलाओं ने श्रद्धा के साथ वट सावित्री की पूजा की। महिलाएं पूरा श्रृंगार कर पुराने बरगद के पेड़ के नीचे इकट्ठा हुईं और वट वृक्ष में कच्चा धागा लपेट कर पति के दीर्घायु की कामना की। साथ ही पेड़ की जड़ में खीरा, खरबूजा, पकवान आदि अर्पित करते हुए पूजा अर्चना की और सुख समृद्धि की कामना भी की। प्रखंड के विभिन्न पंचायत व गांवो में सुहगिन महिलाएं ने अपने पति की लम्बी उम्र के लिऐ वट-सावित्री की पूजा अर्चना की। सुहगिन महिलाएं ने निर्जला उपवास रख कर भगवन शिव से अपने पति के दीर्घा आयु की मंगलकामन की। सातो जन्म तक साथ रहने की प्रार्थना की। इस दौरान नव विवाहिता इस पूजा को ले कर काफी उत्साहित दिखी । पौराणिक कथाओ के अनुसार देवी सावित्री ने दृढ़ संकल्प के साथ यमराज से अपने पति सत्यवान के प्राण वापस ले आई थी। तभी से हर सुहागीन इस दिन अपने पति की लम्बी उम्र के लिए वट सावित्री की पूजा करती है। इस मौके पर सुहागिन महिलाओं ने निर्जल व्रत कर विधि-विधान से वट वृक्ष पूजन कर पति दीर्घायु की कामना की।