दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है जिससे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है: अमित शाह

दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है जिससे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है: अमित शाह

दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है जिससे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है: अमित शाह 

कोरोना के खिलाफ भारत ने अच्छी लड़ाई लड़ी और दुनिया की तुलना में हमारे आंकड़े बहुत बेहतर हैं

नई दिल्ली 28 जून (मनप्रीत सिंह खालसा):-केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आज मीडीया से बात करते हुए कहा की अभी दिल्ली में ऐसी कोई स्थिति (कम्युनिटी ट्रांसमिशन) नहीं है, जिससे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है । उन्होनें कहा की अभी दिल्ली में कोरोना मरीजो के 350 से ज्यादा शव  बिना संस्कार के पड़े थे जिसके बारे में हमने तय किया कि 2 दिनों के भीतर इन सभी शवों का अंतिम संस्कार उनके धर्म के अनुसार किया जाएगा। 
उन्होनें बताया की पहले आइसोलेशन बेड की कीमत 24-25 हज़ार थी जो हमारे दखल के बाद अब 8-10 हज़ार कर दी गई है। बिना वेंटिलेटर के आई सी यू का पहले रेट 34-43 हज़ार था जो की अब 13-15 हज़ार हो गया है। वेंटिलेटर के साथ आई सी यू का रेट पहले 44-54 हज़ार था उसे अब 15-18 हज़ार कर दिया गया है। इसमें रहने, टेस्ट और दवाइयों का खर्चा शामिल है ।
उन्होनें राहुल गांधी द्वारा उठाए गए सवाल का जवाब देते हुए कहा की मैं राहुल गांधी को सलाह नहीं दे सकता, यह उनकी पार्टी के नेताओं का काम है। कुछ लोग 'वक्रदृष्टा' होते हैं, उन्हें सीधी बात भी वक्र दिखाई पड़ती है। कोरोना के खिलाफ भारत ने अच्छी लड़ाई लड़ी और दुनिया की तुलना में हमारे आंकड़े बहुत बेहतर हैं ।