वलसाड में कोरोना का विस्फोट दिन प्रति दिन बढ़ाता जा रहा है

वलसाड में कोरोना का विस्फोट दिन प्रति दिन बढ़ाता जा रहा है

वलसाड में कोरोना का विस्फोट दिन प्रति दिन बढ़ाता जा रहा है आज भी आया 23 कोरोना की नए मामले तो आज ही 2 लोगों ने कोरोना जंग हारी 

वलसाड जिले मे कोरोना कहर ने आज  3 शतक मे एक दुरी कम पे पहुंचा है-मतलब 299 कोरोना केस ने जिले मे पाँव पसार चुका है |  वलसाड जिलान्तर्गत मे अनलॉक -2 मे आकर 2 लोगों ने कोरोना की जंग हारी है मतलब आपको बता दे की अनलॉक -2 पर 2 मरीजों को कोरोना ने जान लि है |  लॉकडाउन -1 से लेकर 2 और 3 से अनलॉक - 1की शुरुवात  मे भी आकर कोरोना की प्रकोप नहीं था लेकिन जुन महीने की 30 दिन मे कोरोना काल ने 183 लोगों के सर पर पाँव पसार चुका था और उसे भी अति भय एंव हंड़कम्प तो यह जुलाई महीने की 7 दिनों की अन्दर मे 116 लोगों पर कोरोना ने अपनी जकड बांध चुका है और यही सात दिनों की अन्दर मे ही ज्यादा लोगों की भी कोरोना की बजह से ज्यान भी जा चुकी है | और आज ही इस वलसाड जिले की उमरगांव तहसील विधायक को एंव वर्तमान मे गुजरात राज्य के आदिजाती व वन विभागीय राज्यमंत्री श्री रमणलाल पाटकर जी को भी इस कोरोना ने अपने झंक्कट मे लपेटा हुवा है लेकिन राहत की बात यह है की राज्यमंत्री जी का अमदावाद की यु ऐन अस्पताल मे इलाज के लिए भर्ती कराया गया है | कोरोना ने आज पुरी  वलसाड जिलान्तर्गत वासियों पर डर का हड़कम्प मचा के रखा है तो शासन और प्रशासन सहित स्वास्थ्य विभाग पर एकदम चिन्ता की माहौल बनी हुई है | आज की वलसाड जिले में आज के 23 सकारात्मक मामलों का विवरण मे---
वलसाड तहसील पर -04 केस, 
पारडी तहसील से-01 केस, 
वापी से -16 केस, कपराडा तहसील से - 01 केस और उमरगांव तहसील की भिलाड से - 01 केस 
कुल 23 कोरोना पॉजिटिव केस में से 20 पुरुष और 3 महिला मरीज शामिल हैं 
तो दूसरी तरफ राहत की खबर यह है की 9 लोग भी कोरोना को मात देने मे  सफल रहे हैं .. और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है ...| वलसाड जिले में कोरोना केस की संख्या जिले की और जिले बाहर की करके कुल  299 तक पहुंच गई है... जिले मे आज की दिनांक मे  एक्टिव केस 149 है तो जिले से 114 लोगों कोरोना मात देकर एंव स्वास्थ होकर अपनी अपनी घर घर जा चुके है । और जिले मे 10 ज्यादा लोगों ने कोरोना की जंग जितने मे असफल रहे इसी लिए उन लोग उपरवाले को प्यारे हो गए है | 

वलसाड-गुजरात से  टंकप्रसाद दाहाल की रिपोर्ट