मजदूर की मजबूरी ने ले ली जान

मजदूर की मजबूरी ने ले ली जान
मजदूर की मजबूरी ने ले ली जान

बांदा - मजदूर की मजबूरी की दुर्दशा का एक मामला और प्रकाश में आया है जहां लॉक डाउन होने के कारण भारी मुसीबत को झेलते हुए अपने जनपद साइकिल से पहुंचकर दो दिन बाद आत्महत्या  करके अपनी जीवन लीला को समाप्त कर दिया है।
जनपद बांदा के कमासिन थाना क्षेत्र अंतर्गत दो दिन पहले आए प्रवासी मजदूर जो कि साइकिल से चलकर के गुजरात से मजदूरी कर के आया था। और आर्थिक तंगी तथा मानसिक तनाव के कारण 2 दिन बाद, गांव में ही गमछे से फांसी का फंदा बनाकर के आत्महत्या कर लिया,जहां परिवार में कोहराम मचा हुआ है।

 जनपद बांदा के कमासिन थाना क्षेत्र अंतर्गत मुसीवां गांव में एक मजदूर की मजबूरी ने जान ले ली है। जहां की मजदूर, मजदूरी करने के उद्देश्य गुजरात प्रांत में जाकर के प्राइवेट नौकरी कर रहा था और लाक डाउन होने के कारण अपने गृह जनपद आने के लिए मजदूर, मजबूर था। जहां आर्थिक और मानसिक यातनाएं झेल रहे मजदूर के द्वारा अपने घर फोन करके पैसे डलवा कर साइकिल खरीदी और गुजरात से साइकिल के द्वारा चलकर अपने जनपद बांदा के कमासिन थाना क्षेत्र अंतर्गत मुसीवां पहुंचा, जहां घर की स्थिति और दयनीय होने के कारण पीड़ित ने फांसी लगाकर जान दे दी।

 पूरा मामला बांदा के मुसीवां गांव का है जहां का रहने वाला सुनील गुजरात मे काम करने गया था और लाक डाउन होने के कारण भुखमरी के कगार पर पहुंचने की वजह से साइकिल के द्वारा अपने गांव पहुंचा, और 2 दिन बाद गमछे से फांसी का फंदा लगाकर के फांसी पर झूल गया जिससे सुनील की मौत हो गई।

 मजदूर की मौत के विषय में जानकारी देता मृतक का चाचा शिवकरण ने बताया है कि लाक डाउन होने के कारण हम लोग गुजरात में फंसे हुए थे और स्थितियां इतनी खराब थी कि हम लोग भुखमरी की कगार पर पहुंचने वाले थे। किसी भी साधन के न चलने की वजह से हम लोग और हताश व निराश हो चुके थे। जहां घर वालों को फोन करके अपने अकाउंट में पैसे मंगवाए और साइकिल खरीदी तथा साइकिल में सवार होकर 5 लोग गुजरात से अपने जनपद के लिए निकले थे। और 2 दिन ही बीते थे हम लोगों को आए हुए, जहां सुनील ने फांसी लगाकर के आत्महत्या कर लिया है। हत्या करने की वजह क्या थी इस पर अनुमानतः आर्थिक तंगी व मानसिक तनाव का कारण हो सकता है।

 ग्राम मुसीवां के ही रहने वाले ग्रामीण नवनीत कुमार ने बताया है कि 2 दिन पहले ही आया था सुनील साथ में घर की स्थिति को देखकर तनाव में रहता था और फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया है।

मजदूर की मौत की घटना के उपरांत घटना की जानकारी पर बताते अपर पुलिस अधीक्षक एलबीके पाल कि 1 सप्ताह पहले सुनील नाम का युवक कमासिन थाना क्षेत्र अंतर्गत मुसीवां का रहने वाला है, अपने गांव आया था। और देर रात अज्ञात कारणों के चलते फांसी लगाकर के आत्महत्या कर लिया है। पुलिस घटना की जांच कर रही है साथ में लास का पंचायत नामा भर के पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।


अयाज जमा बांदा की रिपोर्ट